Sham-e-Gham Ki Qasam Sargam, Harmonium Notes, Sa re ga ma Notations

By
Sham-e-Gham Ki Qasam Sargam, Harmonium Notes, Sa re ga ma Notations
Scale F


Sthayi

शाम ए ग़म की कसम, आज ग़मगीन हैं हम
ध - नि स - ग - ग - ग ग -, ग ग ग - म - ग रे

आ भी जा आ भी जा आज मेरे सनम
रे रे रे - प - म॑ प​, गरे स स - रे - नि स​

शाम ए ग़म की क़सम
ध - नि स - ग - ग - ग ग -, ग ग ग - म - ग रे

दिल परेशान है रात वीरान है
रे रे रे - प - म॑ प​, गरे स स - रे - नि स​

देख जा किस तरह आज तनहा हैं हम
रे रे रे - प - म॑ प​, गरे स स - रे - नि स​

शाम ए ग़म की कसम


Antra 1

चैन कैसा जो, पहलु में, तू ही नहीं
स नि॒ ध प ग​, ग ग ग​, ग म ग म

मार डाले न, दर्द ए जुदाई कहीं
मप ग ग रेस रे, नि॒ ध नि॒ स मप म ग -

Filler - प स रे ग​

रुत हसीं है तो क्या, चांदनी है तो क्या
ग म प प म॑ प​, पसं ध म पध ध ध​

चांदनी जुल्म है और, जुदाई सितम
धनि ध प प ध पम म​, म म प म ग​

शाम ऐ ग़म की कसम आज ग़मगीन है हम
आ भी जा आज मेरे सनम
शाम ऐ ग़म की कसम

Sargam of Antra 2 is same as Antra 1


Antra 2

अब तो आजा के अब रात भी हो गयी
जिंदगी ग़म के सेहराओ में खो गयी
ढूंढती है नज़र तू कहाँ है मगर
देखते देखते आया आँखों में दम
शाम ए ग़म की कसम

2 comments:

  1. Evergreen song of Talat Mehmood... Excellent notations posted by yourself. I am enjoying all your posts. Kindly post some more notations of Talat Mehmood. Ghulam Haider, C Ramachandra are among the best music composers.

    ReplyDelete
  2. Thanks for these beautiful notes. God bless you.
    I am enjoying.
    With your permission,something tells me Anthra 2 is not same as anthra1.
    Will be great to know the starting Aalap & fillers.

    ReplyDelete